Followers

Thursday, May 28, 2009

तेरा प्यार

मेरी धडकनों  में 
बस गया है तेरा प्यार ,
मेरी सांसो में 
महकता है तेरा प्यार ,
मेरी हर धड़कन के साथ
अपने होने का एहसास जताता है तेरा प्यार ,
मेरी हर साँस मे 
बसता है तेरा प्यार , 
लहू बन कर 
मेरी नस नस में 
बहने लगा  है तेरा प्यार ,
मेरे अंग अंग में 
समां गया है तेरा प्यार ,
मेरा विश्वाश है तेरा प्यार ,
मेरा गुरुर है तेरा प्यार ,
मेरी हँसी मेरी ख़ुशी है तेरा प्यार ,
अब तो मेरे जीवन का 
आधार ही है तेरा प्यार /


रेवा 

Monday, May 25, 2009

क्या तुमने कभी सोचा है

क्या तुमने कभी सोचा  है 


बारिश की बूंदों और ठंडी हवाओं के  साथ
मन  कितनी  उड़ाने भरने  लगता  है........


उस वक़्त हर पल हर जगह मन बस 
तुम्हे ही ढूंढने लगता है.......


लगता है इस सुहाने मौसम में
बस तुम हो, मैं हूँ और हमारा प्यार हो


खुद में सिमटी तुम्हारे काँधे पर सर रखे
बारिश में भीगते हम बस चलते चले जाये........


न कोई डर न कोई खबर 
अनगिनत बातें, अनगिनत ऐसी मुलाकाते
और हम तुम बस ऐसे ही चलते चले जाये.....

क्या तुमने कभी सोचा है.....


रेवा 

Saturday, May 23, 2009

ये आंसू भी अजीब हैं

ये आंसू भी अजीब हैं 

तेरे गम मे रोते है ,
तो तेरी ख़ुशी मे भी छलकने लगते है ........

तेरे विरह मे रोते है ,
तो तेरे मिलन की आस मे भी छलकने लगते है ........

तेरे रूठने पर रोते है ,
तो तेरे मान जाने पर भी छलकने लगते हैं ...........

तेरा प्यार न पाने पर रोते है ,
तो तेरा प्यार पा कर भी छलकने लगते हैं .......

जब तेरी याद ज्यादा आती है तो ये इस क़दर बेक़रार
हो जाते हैं की रुकने का नाम ही नहीं लेते ,

ये आंसू भी अजीब हैं
गम में रोते हैं ,
और ख़ुशी मे भी छलकने लगते हैं..........

रेवा 

Friday, May 22, 2009

Endless

My love for you is endless

My feelings for you is endless

My emotions for you is endless

My desire for you is endless

My talk for you is endless

My need for your love is endless

My need to be with you is endless

My beleive in you is endless

My pain without you will be endless........

REWA

Thursday, May 21, 2009

ये कैसी है ज़िन्दगी ?

ये कैसी है ज़िन्दगी ?

ख़ुशी है कम दर्द है ज्यादा ,

हँसी है कम आंसू है ज्यादा ,

प्यार है कम तन्हाई है ज्यादा ,

मान है कम अपमान है ज्यादा ,

पाना है कम खोना है ज्यादा ,

जीना है कम मौत है ज्यादा ,

ये कैसी है ज़िन्दगी ,

ख़ुशी है कम दर्द है ज्यादा ..............

रेवा 

Monday, May 18, 2009

ये कैसा है प्यार ?

ये कैसी है विडंबना .........ये कैसा है प्यार ?

न तुझसे दूर रह सकती हूँ
न तेरे करीब रह सकती हूँ ,

न तेरे बिना जी सकती हूँ
न तेरे साथ जी सकती हूँ ,

न तुझे याद किये बिना जी सकती हूँ
न तुझे सिर्फ़ याद कर के जी सकती हूँ ,

न तेरी आगोश मे समा सकती हूँ
न तेरी आगोश मे समाये बिना रह सकती हूँ ,

न तेरी सांसों में बस सकती हूँ
न तेरे बिना साँस ले सकती हूँ ,

ये कैसी है विडंबना .........ये कैसा है प्यार ?

रेवा 

Saturday, May 16, 2009

एक पल में

दिल करता है मिल लूँ  तुझसे एक पल के लिए

जी लूँ  उस एक पल मे

मर लूँ  उस एक पल मे

तेरी खुशबू बसा लूँ  उस एक पल मे

तेरी गर्माहट समेट लूँ  उस एक पल मे

हो जाऊं खुद से बेगानी उस एक पल मे

तोड़ दू सारे कसमों को उस एक पल मे

सारे जहाँ का प्यार पा लूँ  उस एक पल मे

दिल करता है मिल लूँ  तुझसे एक पल के लिए l

रेवा

Thursday, May 14, 2009

रिश्ता पुराना

दिल से दर्द का रिश्ता पुराना

आँखों  से  आंसुओं का रिश्ता पुराना

मिलन से जुदाई  का रिश्ता पुराना

चाहत से नफरत  का रिश्ता पुराना

तन से मन का रिश्ता पुराना

ख्वाब से नींद का रिश्ता पुराना

नजदीकी से दुरी का रिश्ता पुराना

ख़ुशी से गम का रिश्ता पुराना

पर इन सब से उपर  "तेरा  मेरा  रिश्ता  पुराना"

रेवा

Tuesday, May 12, 2009

इन आँखों ने एक सपना देखा

इन आँखों ने एक सपना देखा
सपने में कोई अपना देखा ,
बर्फीली वादियों में जिसके साथ
हाँथो में डाले हाँथ ,
इस दुनिया की भीड़ भाड़ से बेखबर
प्यार में डुबे इस कदर,
न खुद को खुद की खबर
न दिन रात न कोई पहर,
न हम रहे हम न तुम रहो तुम
न फासले हो दरमियाँ
प्यार में डुबे इस कदर,
एक लम्हा भी गर ऐसा जाये गुजर
मरने से न फिर लगे डर,
इन आँखों ने एक सपना देखा
सपने में कोई अपने देखा

रेवा

Monday, May 11, 2009

Inner beauty............

what i am writing here is not a poetry or a thought ..........buts its the reality of life.....
i used think LOVE ,CARE ,RESPECT and TO B TRUE IN ALL WAT U DO...........are the things through which i can win any ones heart ..........but i was really proved wrong...........as in todays world its not the inner beauty but the outer beauty that counts ...................its the first thing seen in anybodys personality and appreciated................so u may b very beautiful person from inside..........but its not all ..............

REWA

Saturday, May 9, 2009

कैसे जीयु तुम बिन

कैसे जीयु तुम बिन

मेरा रोम रोम तड़प रहा है तुम बिन,

मेरा हर पल बेक़रार हो रहा है तुम बिन

मेरा हर लम्हा तन्हा है तुम बिन,

न आँखों में नींद न दिल को सुकून है तुम बिन

मेरी धडकनों ने बगावत कर दी है तुम बिन,

मेरी साँसे तेज़ हो रही है तुम बिन


में पागल हो जाउंगी तुम बिन,

आजा अब तू के तेरी "जान "अधूरी है तुम बिन

रेवा