Followers

Sunday, October 3, 2010

Art of Living ki class...

Art of living ki class
लेती हमारे सांसों की क्लास
सिखाती हमें मन , ज्ञान
और ध्यान की बात .......
कराती हमें वर्तमान मे जीने का एहसास
और दिखाती है हमे खुद से मिलने की राह ..........

रेवा

3 comments:

  1. बहुत ही सुंदर .... एक एक पंक्तियों ने मन को छू लिया ...

    ReplyDelete
  2. bahut hi sundar panktiyaan....
    मेरे ब्लॉग पर इस बार ....
    क्या बांटना चाहेंगे हमसे आपकी रचनायें...
    अपनी टिप्पणी ज़रूर दें...
    http://i555.blogspot.com/2010/10/blog-post_04.html

    ReplyDelete