Followers

Tuesday, March 15, 2011

मन होता है


मन होता है छुप कर
तेरी बाँहों मे
निकाल दू दिल का
सारा दर्द,
बाँट लू अपने
सारे गम ,

रख के सर तेरे 
कांधे पर
रो लू जी भर ,

न दिल मे फिर
रहे कोई गम
न बचे आंसू
आँखों के पास ,

रह जाए तो
बस एक
प्यार भरा
एहसास ........


रेवा




4 comments:

  1. बहुत सुंदर भाव युक्त कविता

    ReplyDelete
  2. दिल की बात बता देने मे ही भलाई है
    सुन्दर अहसासो से भरी कविता
    शुभकामनाये

    ReplyDelete
  3. shukriya Sanjay ji and deepak ji

    ReplyDelete