Followers

Wednesday, December 31, 2014

माफ़ी नामा

साल के अंतिम दिन का
अंतिम सलाम
आप सब के नाम ,
माफ़ कर देना अगर
कभी किसी का
दिल दुखाया हो
बन कर अनजान ,
नए साल मे फिर
हम करेंगे
नयी शुरुआत ,
बस मान जाना मेरी ये
छोटी सी बात………

आप सबको नव वर्ष की ढेरो शुभकामनाएं

रेवा


15 comments:

  1. स्नेहाशीष ..... मेरी भी यही मनोकामना

    ReplyDelete
  2. खट्टी-मीठी यादों से भरे साल के गुजरने पर दुख तो होता है पर नया साल कई उमंग और उत्साह के साथ दस्तक देगा ऐसी उम्मीद है। नवर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।

    ReplyDelete
  3. mafi nama kisliye rewa ji .....ham sab galtiyon ke putle hain ...!

    aapko bhi naya saal mubaarak

    ReplyDelete
  4. जो गुज़र गया वो गया .... आने वाले वर्ष का स्वागत करें ...
    आपको और परिवार में सभी को नव वर्ष की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ...

    ReplyDelete
  5. रेवा जी बहुत सुन्दर प्रस्तुति ! यदि आपकी आज्ञा हो तो आपके स्वर में मैं अपना स्वर भी मिलाना चाहती हूँ ! साल बीतते बीतते सारे गीले शिकवे खत्म हो जाएँ तो नये उत्साह के साथ नये साल की शुरुआत करें ! नव वर्ष की आपको सपरिवार हार्दिक मंगलकामनाएं !

    ReplyDelete
    Replies
    1. Shukriya sadhna ji.....bilkul swagat hai apka

      Delete
  6. सुंदर प्रस्तुति
    विदाई के साथ ही नववर्ष का स्वागत
    यही तो चक्र है।

    आप सबको नववर्ष कि हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  7. सुन्दर प्रस्तुति.नव वर्ष की शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक चर्चा मंच पर वर्ष २०१५ की प्रथम चर्चा में दिया गया है
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर .
    नव वर्ष की शुभकामनाएं !
    नई पोस्ट : संस्कृत बनाम जर्मन और विलायती पारखी

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर ..शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  11. सार्थक प्रस्तुति।
    --
    नव वर्ष-2015 आपके जीवन में
    ढेर सारी खुशियों के लेकर आये
    इसी कामना के साथ...
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  12. आपको भी सपरिवार नए साल की हार्दिक मंगलकामनाएं!

    ReplyDelete
  13. Nav varsh ki mangal kamnaayein....badhayi...

    ReplyDelete