Followers

Thursday, August 15, 2013

क्यों कि आज Happy independence day है !!



हर साल इस दिन हम
देश के लिए मंगल कामना करते  हैं
फेसबुक पर फ़ोटो भी बदलते हैं ,
बधाई भी देते हैं
क्यों कि आज  " Happy independence day " है

देश मे माँ बहनों की इज्ज़त
के साथ खिलवाड़
बच्चियों तक के साथ बलात्कार
पर आज तो खुश हैं हम
क्यों कि आज  " Happy independence day " है


तेज़ाब से जल रहीं हैं
दहेज़ के लिए जलाई जा रही हैं बहनें  ,
बेटों के लिए बेटियों की
बलि चढ़ाई जा रही है
पर आज तो खुश हैं हम
क्यों कि आज  " Happy independence day " है

बच्चों को
mid day meal के नाम पर
ज़हर परोस रहे हैं
और उनको मरते देख रहे हैं
पर आज तो खुश हैं हम
क्यों कि आज  " Happy independence day " है

कहीं आतंकवाद
कहीं नेतावाद
कहीं विवाद
पर फिर भी आज तो खुश हैं हम
क्यों कि आज  " Happy independence day " है


रेवा 

15 comments:

  1. बहुत खूब सुंदर रचना,,,

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,

    RECENT POST: आज़ादी की वर्षगांठ.

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छा विश्लेषण । आपको उस स्वतंत्रता दिवस की बधाई जो आपके कल्पना मे है

    ReplyDelete
  3. स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाये

    ReplyDelete
  4. यथार्थ से भागने और दिखावे को ओढने पर अच्छा व्यंग.
    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाये.

    ReplyDelete
  5. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ....

    ReplyDelete
  6. व्यंगात्मक सटीक रचना
    स्वतंत्र दिवस की शुभकामनाएं
    latest os मैं हूँ भारतवासी।
    latest post नेता उवाच !!!

    ReplyDelete
  7. आपने लिखा....हमने पढ़ा....
    और लोग भी पढ़ें; ...इसलिए शनिवार 17/08/2013 को
    http://nayi-purani-halchal.blogspot.in
    पर लिंक की जाएगी.... आप भी देख लीजिएगा एक नज़र ....
    लिंक में आपका स्वागत है ..........धन्यवाद!

    ReplyDelete
  8. लाज़वाब
    आपने हर पहलु को बख़ूबी उज़ागर किया
    और एक उत्कृष्ट रचना में दर्शाया है। .
    बहुत बहुत बधाई
    जय हिन्द

    ReplyDelete
  9. बहुत सटीक और मार्मिक प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  10. रेवा पोस्ट अच्छी है ...बस क्यूँ कि ...या क्यों कि(लिखने में ऐसे सही है)...ये ठीक कर लों
    कविता के अनुसार

    ReplyDelete
    Replies
    1. shukriya didi......jaroor...apne jo bataya uskay liye tahe dil say abhar

      Delete
  11. adbhut rachna ......vartman pangu tantr par aur hamari supt tantrikaon par kada prahar hai aapki rachna..:)

    ReplyDelete